PG (Post graduation) की पूरी जानकारी – विषय, कॉलेज, फीस, फायदे | PG In Hindi

Undergraduate में हमें Bachelor Degree मिल जाती है फिर उसके आगे पढ़ाई करने के लिए हमें postgraduate करना पड़ता है जो कि एक Master Degree होती है। Master Degree लेने से हमें कहीं भी आसानी से नौकरी मिल जाती है।

Master Degree अलग-अलग course में की जाती है अगर किसी बच्चे ने B.Sc की है तो वह M.Sc कर सकता है। अगर उसे Master Degree भी science के field में लेनी होती है तो वह M.Sc करता है ।

जैसा कि आप जानते हैं कि undergraduate 3 साल का होता है वैसे ही postgraduate 2 साल का होता है।

Introduction

आज हम बात करेंगे कि post graduate क्या होता है, यह करना क्यों जरूरी होता है?, Post Graduation करने से हमें क्या-क्या फायदे होते हैं?, Post Graduation में कौन-कौन से course आते हैं?, (Pg main kaun kaun se subject hote hai) Post Graduation कब कर सकते हैं, Post Graduation करने के लिए क्या eligibility होती है आइए जानते हैं।

Post graduate का मतलब क्या होता है? (Post graduation meaning in Hindi)

Post graduate का मतलब होता है एक Master Degree जो कि अलग-अलग field में की जाती है postgraduate कोई भी विद्यार्थी तभी कर सकता है जब उसने Bachelor Degree प्राप्त कर ली हो। Post graduation Under graduation  करने के बाद किया जाता है। Post graduation में हमें ग्रेजुएशन की advanced चीजें बताई जाती है

Post graduate कौन कहलाता है?

Post graduate वह विद्यार्थी कहलाते हैं जिन्होंने अपनी पढ़ाई ग्रेजुएशन के बाद post graduation में पूरी कर ली हो।

Post Graduation में कौन कौन से कोर्स आते हैं?

आइए जानते हैं कि हम किस-किस course से post graduation कर सकते हैं?

आपको वैसे तो M.Sc ,M.com इन सब के नाम से ही पता पड़ रहा होगा कि यह एक Master Degree है क्योंकि इसके शुरू में M letter आ रहा है जो कि बता रहा है कि यह सब एक Master Degree है।

यह सभी course 2 साल में पूरे हो जाते हैं।

M.A- Masters in Arts

Master in Arts में हमें  Political Science,Sociology,Economics,History,Psychology,Philosophy,Rural studies,Geography और Literature के बारे में पढ़ाया जाता है

M.BA- Master in Business Administration

 जैसा कि आपको MBA के नाम से ही पता चल रहा है इस में हमें business के बारे में बताया जाता है ,जिसे

business करने में थोड़ी भी रुचि होती है वह बच्चा MBA करता है।

M.Sc- Master of Science

M.Sc पढ़कर आप science के master बन जाते हो इसमें आपको science से related चीजों के बारे में बताया जाता है और आपको किसी भी चीज की रिसर्च करने में master बना दिया जाता है।

MCA- Master of computer applications

यह एक professional  course है जिसमें आपको computer से related पूरी जानकारी दी जाती है इसे करने से आपको computer की पूरी नॉलेज हो जाती है, यह course बच्चों में बहुत ही प्रसिद्ध है जिस बच्चे को computer के field में interest होता है वह इस course को चुनता है ।

वैसे तो सभी course 2 साल के होते हैं लेकिन MCA दो और किसी किसी इंस्टीट्यूट में 3 साल का भी होता है।

M.TECH- Master of Technology

यह एक ऐसा course है जो कि computer पर बेस है ,आपको इसमें टेक्नोलॉजी का master बना दिया जाता है जिसमें आपको टेक्निकल चीजें के बारे में बताया जाता है।

M.Arch- Master of Architecture

Master of Architecture में आपको designing के बारे में पढ़ाया जाता है ,

यह भी बताया जाता है कि interior designing कैसे होती है कैसे हमें नए-नए idea लगाकर interior designing करनी चाहिए और building के बारे में भी बताया जाता है।

M.com- Masters of Commerce

M.com मैं हमें accounting के बारे में पढ़ाया जाता है, M.com करके कोई भी बच्चा बैंकिंग या कोई भी business भी कर सकता है। M.com करने के लिए पहले बच्चे को बीकॉम करना पड़ता है ताकि उसे कॉमर्स के बारे में knowledge हो जाए।

MBBS- Masters in Medical Science

Master in Medical Science में हमें practical और theory  दोनों तरीके से पढ़ाया जाता है इसमें हमें दवाइयों की scientific की पढ़ाई कराई जाती है इसमें हमें practical करना भी सिखाया जाता है।

Masters in Design or Fashion

इसमें हमें fashion, clothes और accessories से related designing करना सिखाई जाती है ,आजकल यह course भी बहुत प्रसिद्ध हो गया है ज्यादातर लड़कियां master इन designing ही करती है क्योंकि उन्हें designing में रुचि होती है।

PG Diploma Broadcast or Journalism

इसमें हमें industry से related कार्य करना सिखाया जाता है जिसमें हमें पूरी knowledge दी जाती है कि industry में किस technique से अलग-अलग change आए और हर काम तेजी से होए।

Masters in Hotel Management or Tourism 

यह दो अलग-अलग स्ट्रीम है जो कि tourism and hospitality education sector  पर base है

Hotel Management में हमें Principles and Practices of Management, Organizational Behaviour, Accommodation Management, Food and Beverage Management

Food Science ओर Nutrition and Dietetics Management के बारे में बताया जाता है।

Master in tourism में हमें Service Management for Tourism और Hospitality Industry,Hospitality Operations और Management,

Tourism Management,Quantitative Methods for Business,Sales Management, Marketing in Tourism और Hospitality Industry , Financial Management in Tourism और Hospitality के बारे में बताया जाता है।

Post-Graduation in Economics

इसमें हमें economics पढ़ाई जाती है जिससे हमें कई प्रकार की जॉब मिलती है जैसे Economist, Accountant, Actuary, Financial Consultant, Financial Planner, Risk Analyst, Investment Analyst, Economic Researcher, Economics Teacher

आदि

Master of law in Cyber Law or LLM

इसमें हमें law के बारे में पढ़ाया जाता है, हम LLB करने के बाद LLM कर सकते हैं ,यह भी सभी course की तरह 2 साल का course होता है।

जो भी विद्यार्थी अपना career law की पढ़ाई में बनाना चाहते हैं वह LLM करते हैं‌ इसमें हमें IPC, Construction law, Family law, Property law ,Cyber law , Corporate law आदि ‌के बारे में बताया जाता है।

Post graduation करना क्यों आवश्यक है?

Post graduation करना इसलिए आवश्यक है क्योंकि आजकल हर जगह post graduation की degree मांगी जाती है।

आज के जमाने में competition बढ़ता ही जा रहा है जिसमें हम केवल एक विशेष education qualification की मदद से ही survive कर सकते हैं ।आज की इस दुनिया में competition इतना बढ़ गया है कि हर बच्चों का पढ़ना आवश्यक हो गया है।

इसलिए हम अच्छी degree प्राप्त करके ही कहीं जॉब पा सकते हैं इसके बावजूद आज भी यह देखा जा रहा है कि Post graduation करने के बाद भी कई लोगों को नौकरी नहीं मिलती है।

Post Graduation करने के बाद हमें कितनी सैलरी मिलती है?

Post graduation करने के बाद हमें कम से कम प्रतिमाह 20kसे 25k के बीच सैलरी मिल जाती है।

Post Graduation करने की क्या Eligibility होती है?

  • Post graduation करने के लिए कम से कम 50% नंबर से हमें ग्रेजुएशन पास करना पड़ता है।
  • Under graduation पूरा होने पर ही हम Post graduation कर सकते हैं Under graduation हम 12वीं पास करके कर सकते हैं।

कुछ बच्चे 12वीं पास करने के बाद 5 साल का course करते हैं जिसमें under graduation और post graduation दोनों ही शामिल होता है ,इसमें हम एक साथ ही post graduation और under graduation कर लेते हैं कई institute में under graduation और post graduation course एक साथ करवाए जाते हैं जो कि 5 साल का होता है।

क्या Post graduation करने के बाद भी आप अपने career से संतुष्ट नहीं है?

लोग आजकल Post graduation करने के बाद भी अपने career से संतुष्ट नहीं हो पाते हैं ,उन्हें अपनी पसंदीदा मनचाही जॉब नहीं मिल पाती है जिसे पाने के लिए वह और भी आगे पढ़ना चाहते हैं।

Post graduation करने के बाद भी आपके पास ढेरों option होते हैं जो कि आपकी career को promote करने में मदद करते हैं। आपका job और career आपके चुने हुए postgraduate विषय पर ही चुना हुआ होगा।

पोस्ट ग्रेजुएशन कितने साल का होता है?

Post graduation course 2 साल का होता है।

Post graduation करने के फायदे?

अगर हमने post graduation अच्छे से किया है तो post graduation की मदद से हमें कहीं पर भी जॉब मिल जाएगी।

Post graduation के बाद हमें जॉब उसी field में मिलती है जिसमें हमने post graduation की हो।

कोई भी अच्छी जॉब हमें सिर्फ दसवीं पास करके ही नहीं मिलती है उसके लिए हमें graduation और post graduation भी करना पड़ता है।

Post graduation करने के बाद हम सरकारी नौकरी के लिए भी अप्लाई कर सकते हैं।

Post Graduation के बाद क्या करें?

आइए जानते हैं कि हम‌ Post graduation के बाद हम अपने-अपने field के according कौन-कौन सी सरकारी नौकरी कर सकते है?

Post graduation के बाद हम General Duty Medical Officer, Specialist, Professor, Non Teaching ,Medical Practitioners, Senior Resident ,Junior Resident, Radiographer ,Lecturer, Project Engineer ,Project Manager, Project Officer, Junior Research Fellow, Senior Research Fellow, Research Associate , Designer आदि govt. job के लिए apply कर सकते हैं।

हर field के लिए अलग-अलग जॉब होती है जो कि उनके सब्जेक्ट से related होती है आप अपने-अपने सब्जेक्ट के according अलग-अलग govt. job के लिए apply कर सकते हैं।

Best college for Post Graduation

  • Indian Institute of Technology, Delhi,Kharagpur,Kanpur,Roorkee
  • Lady Shri ram College for women
  • Shri ram College of commerce
  • St. Stephens College
  • Institute of hotel Management catering and nutrition
  • National law School of India University
  • All India institute of medical Science
  • Manipal College of dental sciences
  • National institute of fashion technology
  • Tata institute of social Science
  • Indian institute of mass communication

Conclusion

आज हमने जाना कि Post graduation में कौन-कौन से सब्जेक्ट होते हैं ,किन-किन जॉब के लिए हमें Post graduation के बाद apply कर सकते हैं ,हर subject के लिए अलग-अलग जॉब होती है और हमने यह भी जाना की Post graduation से हमें क्या क्या लाभ होते हैं?, Post graduation कितने साल की होती है, Post graduation करने की योग्यता क्या होती है ?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

घर बैठे पैसे कैसे कमाएं? [25,000 हर महीने]