नागालैंड की राजधानी कहां है? | Capital of Nagaland in hindi

आज हम जानेंगे कि नागालैंड की राजधानी क्या है? (nagaland ki rajdhani kya hai) या नागालैंड की राजधानी कहां है? (Nagaland ki rajdhani kahan hai) तथा नागालैंड की राजधानी में प्रसिद्ध स्थल कौन-कौन से हैं?

नागालैंड की राजधानी (Capital of Nagaland in hindi) के बारे में पूरी विस्तार से जानने के लिए इसे पूरे ध्यान से पढ़ें?

नागालैंड की राजधानी क्या है? (Nagaland ki rajdhani kahan hai)

Nagaland ki rajdhani

नागालैंड की राजधानी ‘कोहिमा’ है।

भारत देश के उत्तर पूर्वी क्षेत्र के 7 राज्य The seven sisters of India के नाम से जाने जाते हैं जिनमें अरुणाचल प्रदेश, मेघालय, असम, मणिपुर, नागालैंड, त्रिपुरा और मिजोरम राज्य आते हैं। इनमें से नागालैंड राज्य की राजधानी कोहिमा है। भारत के नागालैंड प्रांत को यहां की समृद्ध जीवंत संस्कृति के लिए जाना जाता है एवं यहां की राजधानी कोहिमा में इस संस्कृति की झलक स्पष्ट रूप से देखी जा सकती है। यह एक उत्तम पर्यटन स्थल भी है। कोहिमा भारत के नागालैंड राज्य के कोहिमा जिले में स्थित एक नगर है। यहां अधिकतर नागा समुदाय के लोग रहते हैं।

क्षेत्रफल एवं जनसंख्या में वर्ष 2011 की जनसंख्या जनगणना के अनुसार कोहिमा की कुल आबादी 267988 के करीब की दर्ज की गई थी, जिसमें से पुरुषों की संख्या 138966 एवं महिलाओं की जनसंख्या 129022 थी। जनसंख्या घनत्व 183 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर था।

लिंग अनुपात में प्रति हजार पुरुष 928 महिलाएं एवं 0-6 वर्ष की आयु के बीच प्रति हजार लड़के 985 लड़कियां हैं। यहां की औसत साक्षरता दर 85.23 % तथा पुरुष एवं महिलाएं क्रमशः 88.69% एवं 81.48% साक्षर है। क्षेत्रफल में  यह 20 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला है एवं समुद्र तल से इसकी ऊंचाई 1444 मीटर है।

नागालैंड की राजधानी की भूगोल एवं जलवायु

भूगोल एवं जलवायु में कोहिमा  शहर पूर्वोत्तर भारत के दीमापुर स्थित रेल मार्ग से 48 किलोमीटर की दूरी पर दक्षिण पूर्व में नागा  पहाड़ियों पर स्थित है। इस शहर की भौगोलिक स्थिति उत्तर- 25° 40′ 12″, पूर्व- 94° 7′ 12″ E है। समुद्र तल से इसकी औसत ऊंचाई 4137 फीट जितनी है।

जलवायु में, कोहिमा शहर में नम उप उष्णकटिबंधीय जलवायु रहती है जिससे साल के ज्यादातर समय वातावरण सुखद रहता है। मार्च से मई महीने तक यहां गर्मियों का मौसम रहता है तब अधिकतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचता है, एवं औसतन मौसम अच्छा बना रहता है।

June से September के दौरान यहां 300 मिलीमीटर की भारी मासिक औसतन वर्षा होती है। काफी ऊंचाई पर बसे होने के कारण नवंबर से फरवरी के बीच यहां भारी सर्दी पड़ती है, इस दौरान औसतन तापमान 8 से 16 डिग्री सेल्सियस के मध्य रहता है।

धर्म के आधार पर जनसंख्या को बांटने पर कुल जनसंख्या का बड़ा भाग ईसाई धर्म को मानता है। % में, कुल जनसंख्या का 87.67 % ईसाई धर्म, 9.51% हिंदू धर्म, 1.64 % इस्लाम धर्म को मानते हैं। इसके बाद 0.37% सिख, 0.57% बौद्ध, 0.03% जैन और 0.13% अन्य धर्म से संबंध रखते हैं। 0.08% लोगों के धर्म अघोषित भी हैं।

शिक्षा के क्षेत्र में यहां स्कूल एवं विश्वविद्यालय भी है, जिनमें उच्च स्तर की शिक्षा प्रदान की जाती है। यहां की औसत साक्षरता दर राष्ट्रीय औसत साक्षरता दर से अधिक है। यहां की प्रचलित भाषाओं में अंगामी एवं नागामी जैसी भाषाएं शामिल है।

नागालैंड की राजधानी में पर्यटन स्थल

पर्यटन स्थलों में यहां कई स्थल आकर्षण का केंद्र है-

प्रदेश की राजधानी कोहिमा में एशिया का सबसे बड़ा चर्च कोहिमा चर्च को देखा जा सकता है, यह चर्च वर्तमान में कोहिमा की पहचान बन चुका है। आकार में काफी बड़े इस चर्च में 3000 लोगों के बैठने की व्यवस्था है एवं आकार में लगभग 25000 वर्ग फीट में फैला हुआ है। धार्मिक दृष्टिकोण से इसका काफी महत्व है।

इसके बाद एशिया में सबसे घनी आबादी वाला गांव कोहिमा गांव भी यहां के प्रमुख पर्यटन स्थलों में है जिसकी स्थापना व्हिनुओ नामक व्यक्ति ने की थी। इसके बारे में कई प्रकार की धारणाएं हैं। गांव के द्वार की सजावट पर्यटकों को आकर्षित करती है।

तृतीय विश्व युद्ध के दौरान जापानियों के हमले में बड़ी संख्या में मारे जाने वाले अधिकारी और और सैनिकों को गैरिसन हिल पर दफनाया गया था जहां पर उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए उन्हें समर्पित 1421 समाधियों का निर्माण किया गया है। ये भी पर्यटकों के बीच लोकप्रिय है।

दजुकोउ घाटी जो कि 30 किलोमीटर की दूरी पर कोहिमा के दक्षिण दिशा में स्थित एक खूबसूरत घाटी है, यह घाटी यहां उगने वाले खूबसूरत फूलों से बहुत खूबसूरत दिखता है। उसके बाद सदाबहार जंगलों से भरे जप्फु चोटी के मनोरम दृश्य देखे जा सकते हैं। यहीं के जंगल म के पेड़ को इसकी ऊंचाई के कारण गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी शामिल किया गया है।

1 दिसंबर 2003 को नागालैंड सरकार के द्वारा नागा हेरिटेज कॉम्पलैक्स का उदघाटन किया गया था और यहीं पर हर वर्ष हॉर्नबिल उत्सव मनाया जाता है। इस कॉन्प्लेक्स की अन्य खूबियों में, यहां द्वितीय विश्व युद्ध की घटनाओं से जुड़े संग्रहालय, खाने पीने के लिए रेस्तरां, सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए एमपी थियेटर और खरीदारी के लिए  दुकाने आदि बनाई गई है। यह भी पर्यटकों की पसंदीदा जगहों में से हैं।

नागालैंड सरकार द्वारा बयावी पहाड़ी पर संग्रहालय का निर्माण कराया गया है जिसमें नागालैंड के इतिहास और उसके संस्कृति से जुड़ी अनेक वस्तुओं को देखा जा सकता है। जिससे नागा आदिवासियों की जीवन शैली और उनकी संस्कृति की एक झलक मिलती है। यहां स्थानीय कलाकारों द्वारा बनाई गई कलाकृतियां भी देखी जा सकती है।

नागालैंड एवं नागालैंड की राजधानी में परिवहन एवं यातायात की सुविधा

परिवहन यानी यातायात में यहां वायु मार्ग, सड़क मार्ग या रेल मार्ग से आसानी से पहुंचा जा सकता है-

सड़क मार्ग में कोहिमा का बस अड्डा नागालैंड का सबसे व्यस्त बस अड्डा है जहां से नागालैंड के अंदर विभिन्न क्षेत्रों के लिए नियमित रूप से बसें चलती हैं। राष्ट्रीय राजमार्ग यानी नेशनल हाईवे 39 से यह देश के दूसरे क्षेत्रों से जुड़ा है जहां से taxi या किसी अन्य निजी वाहनों द्वारा भी यहां पहुंचा जा सकता है।

रेल मार्ग में कोहिमा शहर का सबसे निकटतम रेलवे स्टेशन दीमापुर रेलवे स्टेशन है जोकि कोहिमा से 74 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। रेल मार्ग द्वारा दीमापुर पहुंचकर वहां से कोहिमा तक जाया जा सकता है। दीमापुर के लिए अन्य शहरों से नियमित रूप से ट्रेनें चलती है।

वायु मार्ग में नागालैंड का दिमापुर विमानक्षेत्र में हवाई अड्डा है जोकि कोहिमा का सबसे निकटतम हवाई अड्डा है। दीमापुर हवाई अड्डे तक देश के दूसरे शहरों से उड़ाने भरी जाती है। हवाई अड्डे से कोहिमा तक की दूरी कुछ ही किलोमीटर की है जिसे सड़क मार्ग द्वारा आसानी से तय किया जा सकता है।

घर बैठे पैसे कैसे कमाएं? [25,000 हर महीने]