मेघालय की राजधानी कहां है? Capital of Meghalaya in hindi

आज हम जानेंगे कि मेघालय की राजधानी कहां है? (Meghalaya ki rajdhani kahan hai) या मेघालय की राजधानी क्या है? (Meghalaya ki rajdhani ka naam kya hai) तथा मेघालय की राजधानी की पूरी जानकारी (Capital of Meghalaya in hindi) पूरे विस्तार से मैं आपको कहने वाला हूं तो इसे पूरा ध्यान से पढ़ें।

मेघालय की राजधानी क्या है? (Meghalaya ki rajdhani kahan hai)

Capital of Meghalaya in hindi

मेघालय की राजधानी ‘शिलांग’ है।

भारत देश के पूर्वोत्तर राज्य मेघालय की राजधानी शिलांग है। यह भारत के उत्तर पूर्वी भाग का एक हिल स्टेशन है यानी यह एक पर्वतीय स्थल है, जहां ईस्ट खासी हिल्स जिले का मुख्यालय भी है। ब्रिटिश  लोग शिलांग को स्कॉटलैंड आफ द ईस्ट यानी ईस्ट का स्कॉटलैंड कहा करते थे क्योंकि घूमती पहाड़ियों से घिरा यह नगर उन्हें स्कॉटलैंड की याद दिलाती थी। पहले मेघालय असम का भाग था उस समय  शिलांग अविभाजित असम की राजधानी थी, एवं 21 जनवरी 1972 को मेघालय का एक नए राज्य के रूप में  गठन होने पर शिलांग को मेघालय की राजधानी बनाया गया एवं असम की राजधानी गुवाहाटी में दिसपुर को बनाया गया।

मेघालय एवं मेघालय की राजधानी की क्षेत्रफल एवं जनसंख्या

क्षेत्रफल एवं जनसंख्या में मेघालय राज्य की राजधानी शिलांग 64.36 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र मे फैला हुआ है एवं समुद्र तल से इसकी ऊंचाई 1495 मीटर से अधिक है। वहीं जनसंख्या में वर्ष 2011 में हुई जनसंख्या जनगणना के अनुसार राजधानी की जनसंख्या 143229 एवं महानगर की जनसंख्या 354759 के करीब दर्ज की गई थी। जिससे शिलांग का जनसंख्या घनत्व  234 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर का हो जाता है। पुरुष एवं महिलाओं  का जनसंख्या में प्रतिशत क्रमश 49% और 51% था। औसत साक्षरता दर  93% , जिसमें पुरुष साक्षरता दर 95% और महिला साक्षरता दर 91% थी।

भूगोल एवं जलवायु में इस शहर की भौगोलिक स्थिति शिलांग पठार पर स्थित है। यह नगर पहाड़ियों से घिरा  एवं पठार के केंद्र में स्थित है। देश के दूसरे राज्य असम के गुवाहाटी शहर से यह 100 किलोमीटर की दूरी पर है जहां राष्ट्रीय राजमार्ग यानी नेशनल हाईवे 40 द्वारा शिलांग गुवाहाटी से जुड़ा है। जलवायु में शिलांग की जलवायु उपोष्णकटिबंधीय उच्च भूमि जलवायु है।

सामान्य तौर पर इस नगर का मौसम सुहावना होता है सर्दियों में तापमान 4 डिग्री से 10 डिग्री सेल्सियस के मध्य एवं गर्मियों में तापमान 23 से 29 डिग्री सेल्सियस के बीच रहता है। यहां की ग्रीष्म ऋतु अधिक बारिश वाली एवं सर्दियां ठंडी और शुष्क होती हैं। मानसून का मौसम यहां जून से लेकर अगस्त तक रहता है। शिलांग को मानसून की  योनि माना जाता है।

मेघालय की राजधानी में शिक्षण संस्थानों

शिक्षण संस्थानों में  शिलांग शहर में स्कूलों के अलावा कई विश्वविद्यालय,  महाविद्यालय, स्वायत्त संस्थान, चिकित्सा महाविद्यालय, एवं विधि महाविद्यालय है जिनमें उच्च स्तरीय शिक्षा दी जाती है। यहां के कॉलेजों में रेड लबान कॉलेज, सेंट एडमंड्स कॉलेज, लेडी कियाने कॉलेज शिलांग, सैंट एंथोनी कॉलेज शिलांग, लेडी कीन कॉलेज, सैंट मैरी कॉलेज, चेरापूंजी कॉलेज शिलांग कॉमर्स कॉलेज, वूमेंस कॉलेज शिलांग, संकरदेव कॉलेज, Shillong law College जैसे महाविद्यालय है।

स्वायत्त संस्थानों में भारतीय प्रबंधन संस्थान, राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, पूर्वोत्तर इंदिरा गांधी क्षेत्रीय स्वास्थ्य एवं चिकित्सा संस्थान, पूर्वोत्तर आयुर्वेद एवं होम्योपैथी संस्थान तथा राष्ट्रीय फैशन टेक्नालॉजी संस्थान  शिलांग यहां स्थित है।

विश्वविद्यालय में पूर्वोत्तर पर्वतीय विश्वविद्यालय और अंग्रेजी और विदेशी भाषाओं का केंद्रीय संस्थान जैसे केंद्रीय विश्वविद्यालय एवं मार्टिन लूथर क्रिश्चियन यूनिवर्सिटी मेघालय, सीएमजे विश्वविद्यालय, टेक्नो ग्लोबल विश्वविद्यालय, William carry विश्वविद्यालय, तथा प्रौद्योगिकी एवं प्रबंधन विश्वविद्यालय जैसे निजी विश्वविद्यालय यहां है।

मेघालय की राजधानी में पर्यटन स्थल

पर्यटन के दृष्टिकोण से भी शिलांग शहर में दर्शन योग्य  कई पर्यटन स्थल मौजूद हैं।

लेडी हैदरी पार्क जोकि लगभग हर तरह के पुष्पों से सजा हुआ एक खूबसूरत पार्क है, अपनी खूबसूरती से पर्यटकों को आकर्षित करता है। इस पार्क में अनेकों  प्रजातियों की तितलीयो का एक संग्रहालय तथा एक छोटा चिड़ियाघर भी है।

Happy valley में स्थित एक बहुत ही ऊंचा और सीधा झरना जिसे मीठा झरना कहते हैं, अपनी खूबसूरती के लिए प्रसिद्ध है।

शिलांग का सबसे ऊंचा पॉइंट 1965 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है,जिसे शिलांग पीक कहा जाता है। अधिक ऊंचाई के कारण यहां से पूरे शहर का नजारा देखने को मिलता है जोकि रात के समय शहर  की खूबसूरती को और मनोरम बनाता है।

घने जंगलों से घिरे एक कृत्रिम झील जिसे वार्डस झील कहते हैं, इसका स्थानीय नाम नैनपोलोक भी है।जो नौका विहार एवं प्रकृति के सौंदर्य के लिए प्रसिद्ध है।

एक गोलाकार गुंबदनुमा लगभग 1000 फुट की व्यास वाला, ग्रेनाइट की एक ऊंची और विशाल चट्टान कैलांग रॉक के नाम से प्रसिद्ध है।

Shillong golf course जो कि एशिया के सबसे बड़े गोल्फ कोर्स है शिलांग में ही हैं।

कैप्टन विलियमसन संगम राज्य संग्रहालय जो कि सरकारी संग्रहालय है जहां यहां के आदिवासी लोगों की जीवन शैली एवं उनकी परंपरा तथा संस्कृति की झलक मिलती है यह संग्रहालय राजकीय केंद्रीय पुस्तकालय परिसर में स्थित है।

फ्रांस का स्मारक जिसे स्थानीय रूप में  मोटफ्रान के नाम से जाना जाता है जोकि प्रथम विश्व युद्ध के दौरान अंग्रेजों के अधीन फ्रांस में काम करने वाले 26 वी खासी लेबर कॉर्प्स की याद में बनवाया गया था।

इन स्थानों के अलावा शिलांग में और इसके निकट के अन्य पर्यटन स्थलों में क्रीसलीस गैलरी, बिशप और बीडॉन फॉल्स, स्वीट फॉल्स, राज्य संग्रहालय, स्प्रेड ईगल फॉल्स, चेरापूंजी, elephant प्रपात,  उमियम, मौसिनराम, जैकरम, hot spring, महादेव खोला मंदिर  जैसे स्थानों का नाम आता है।

मेघालय की राजधानी में परिवहन एवं यातायात की सुविधा

परिवहन यानी यातायात में शिलांग पहुंचने के लिए आप वायु मार्ग, सड़क मार्ग एवं रेल मार्ग से भी आ सकते हैं हालांकि मेघालय में रेल लाइन है नहीं है।

रेल मार्ग में, मेघालय में रेल लाइन नहीं है। रेल मार्ग से आप गुवाहाटी रेलवे स्टेशन तक आ सकते हैं जहां से शिलांग की दूरी 104 किलोमीटर की है, यही शिलांग का मुख्य और सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन है। गुवाहाटी के बाद आप सड़क मार्ग से शिलांग, बस या टैक्सी जैसे वाहनों से पहुंच सकते हैं। देश के 9 बड़े शहरों से गुवाहाटी रेलवे स्टेशन तक के लिए कई एक्सप्रेस ट्रेनें चलती हैं।

हवाई मार्ग में, हवाई जहाज से शिलांग पहुंचना सबसे अच्छा होता है। शिलांग हवाई अड्डा  उमरोई में शिलांग शहर से 40 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। देश के कुछ शहरों जैसे कोलकाता एवं गुवाहाटी से यहां तक के लिए सीधी उड़ाने भरी जाती हैं। देश के मुख्य शहरों जैसे दिल्ली मुंबई से आप कोलकाता या गुवाहाटी तक फ्लाइट से जा सकते हैं।

सड़क मार्ग में मेघालय का शिलांग पूर्वोत्तर भारत के ज्यादातर राज्यों से अच्छी तरह सड़क मार्ग से जुड़ा हुआ है, जिसमें दो प्रमुख राष्ट्रीय राजमार्ग यानी नेशनल हाईवे शामिल है। राष्ट्रीय राजमार्ग 40 जिससे यह गुवाहाटी से जुड़ा है, एवं राष्ट्रीय राजमार्ग 44 से शिलांग त्रिपुरा एवं मिजोरम से जुड़ा है। अन्य राज्यों से यहां के लिए बस सुविधा उपलब्ध है। साथ ही आप टैक्सी जैसी सुविधा या निजी वाहनों से भी यहां पहुंच सकते हैं।

S.Noराजधानी (Capital)
1आंध्र प्रदेश की राजधानी क्या है?
2अरुणाचल प्रदेश की राजधानी क्या है?
3असम की राजधानी क्या है?
4बिहार की राजधानी क्या है?
5छत्तीसगढ़ की राजधानी क्या है?
6गोवा की राजधानी क्या है?
7गुजरात की राजधानी क्या है?
8हरियाणा की राजधानी क्या है?
9हिमाचल प्रदेश की राजधानी क्या है?
10झारखंड की राजधानी क्या है?
11कर्नाटक की राजधानी क्या है?
12केरल की राजधानी क्या है?
13मध्य प्रदेश की राजधानी क्या है?
14महाराष्ट्र की राजधानी क्या है?
15मणिपुर की राजधानी क्या है?
16मेघालय की राजधानी क्या है?
17मिजोरम की राजधानी क्या है?
18नागालैंड की राजधानी क्या है?
19ओडिशा की राजधानी क्या है?
20पंजाब की राजधानी क्या है?
21राजस्थान की राजधानी क्या है?
22सिक्किम की राजधानी क्या है?
23तमिल नाडु की राजधानी क्या है?
24तेलंगाना की राजधानी क्या है?
25त्रिपुरा की राजधानी क्या है?
26उत्तर प्रदेश की राजधानी क्या है?
27उत्तराखंड की राजधानी क्या है?
28पश्चिम बंगाल की राजधानी क्या है?

घर बैठे पैसे कैसे कमाएं? [25,000 हर महीने]