महाराष्ट्र की राजधानी कहां है? | Capital of Maharastra in hindi

आज हम जानेंगे कि महाराष्ट्र की राजधानी कहां है? (Maharashtra ki rajdhani kahan hai) एवं महाराष्ट्र की राजधानी क्या है? (Maharashtra ki rajdhani kya hai) तथा महाराष्ट्र की राजधानी (Capital of Maharastra in hindi) की पूरी जानकारी मैं आपको देने वाला हूं तो कृपया करके इसे पूरे ध्यान से पढ़ें।

महाराष्ट्र की राजधानी क्या है? (Maharashtra ki rajdhani kahan hai)

Capital of Maharastra in hindi

महाराष्ट्र की राजधानी ‘मुंबई’ है।

भारत देश की वाणिज्यिक राजधानी ‘मुंबई’ 1.84  करोड़ से अधिक की जनसंख्या के साथ जनसंख्या की दृष्टिकोण से भारत का सबसे बड़ा शहर है। यही शहर भारत देश के महाराष्ट्र राज्य की राजधानी है, जोकि भारत देश का एक महत्वपूर्ण वाणिज्यिक केंद्र होने के कारण भारत की वाणिज्यिक राजधानी भी कहलाती है।

इस शहर की स्थिति भारत के पश्चिमी तट पर है। इसकी आर्थिक एवं वाणिज्यिक महत्व इतना है कि या यह पूरे भारत देश के जीडीपी यानी सकल घरेलू उत्पाद में 5% का योगदान देता है।

मुंबई का बंदरगाह पूरे भारत देश का सबसे महत्वपूर्ण एवं सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला सामुद्रिक बंदरगाह है। यहां का तट कटा फटा होने के कारण  इस प्राकृतिक बंदरगाह को सुरक्षित बनाता है। इस शहर को भारत का प्रवेश द्वार भी कहा जाता है क्योंकि अफ्रीका, अमेरिका, यूरोप जैसे पश्चिमी देशों से वायु मार्ग या जल मार्ग से आने वाले जहाज सबसे पहले यहीं पर आते हैं।

इस शहर की चकाचौंध हर किसी को आकर्षित करती हैं, हर कोई यहां आकर अपना सपना पूरा करना चाहता है। अपने इसी आकर्षण के कारण इस शहर को मायानगरी एवं सपनों का शहर भी कहा जाता है।

महाराष्ट्र एवं महाराष्ट्र की राजधानी कि क्षेत्रफल तथा जनसंख्या

क्षेत्रफल एवं जनसंख्या में यह नगर 603.4 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला है। समुद्र तल से इसकी ऊंचाई 14 मीटर की है। एवं जनसंख्या में वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार इस शहर की जनसंख्या 12442373 एवं पूरे महानगर की जनसंख्या 18414288 के करीब की दर्ज की गई थी। साक्षरता दर में 2001 की जनगणना के अनुसार बीएमसी के ग्रेटर मुंबई की साक्षरता दर राष्ट्रीय औसत साक्षरता दर से अधिक, 77.45 % थी। वही लिंगानुपात में ग्रेटर मुंबई में प्रति हजार पुरुष 811 महिलाएं, उपनगरीय क्षेत्र में प्रति हजार पुरुष 826 महिलाएं एवं द्वितीय क्षेत्रों में प्रति हजार पुरुष 774 महिलाएं थी, जो कि औसत राष्ट्रीय लिंग अनुपात से कम है।

महाराष्ट्र की राजधानी कि भूगोल एवं जलवायु

भूगोल एवं जलवायु में, महाराष्ट्र का मुंबई शहर भारत के पश्चिमी तट पर उल्हास नदी के मुहाने पर कोंकण तटीय क्षेत्र में पड़ता है। ज्यादातर नगर समुद्र तल से 10 मीटर-15 मीटर की औसत ऊंचाई पर ही स्थित है। मुंबई का उत्तरी भाग पहाड़ी क्षेत्र है जिस का सबसे ऊंचा स्थान 450 मीटर ऊंचा है।

मुंबई शहर अरब सागर के निकट उष्णकटिबंधीय क्षेत्र में पड़ता है जिस कारण मुख्य रूप से यहां दो ही ऋतुएं होती है शुष्क ऋतु एवं  आर्द्र ऋतु। मार्च माह से अक्टूबर माह के बीच आर्द्र  ऋतु रहती है जिस समय यहां के वातावरण में उच्च आद्रता एवं तापमान 30 डिग्री सेल्सियस से भी अधिक चला जाता है।

मानसून जून से सितंबर के बीच रहती है इसमें शहर का वार्षिक वर्षा स्तर 2200 मिलीमीटर यानी लगभग 86.6 इंच तक पहुंच जाता है। नवंबर दिसंबर शुष्क, एवं जनवरी से फरवरी तक यहां आने वाले उत्तरी हवाओं के कारण हल्की ठंड पड़ती है।

महाराष्ट्र की राजधानी में शिक्षा की सुविधा

शिक्षण संस्थानों में मुंबई में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, यूआईसीटी यानी university institute of chemical technology, वी जे टी आई यानी वीरमाता जीजाबाई प्रौद्योगिकी संस्थान जैसे संस्थान भारत के प्रधान अभियांत्रिकी और प्रौद्योगिकी संस्थानों में आते हैं। इसके साथ ही मुंबई में जमुनालाल बजाज प्रबंधन शिक्षा संस्थान,  एसपी जैन प्रबंधन एवं शोध संस्थान एवं उन जैसे कुछ अन्य प्रबंधन महाविद्यालय भी स्थित है।

इस शहर का सिडेनहैम कॉलेज एवं गवर्नमेंट लॉ कॉलेज देश के सबसे पुराने वाणिज्य एवं विधि महाविद्यालय में से हैं।कला के क्षेत्र में सर जेजे स्कूल आफ आर्ट्स मुंबई का सबसे पुराना महाविद्यालय है। मुंबई विश्वविद्यालय स्नातकों की संख्या के अनुसार विश्व के सबसे बड़े विश्वविद्यालय में से है। यहां के स्कूल महाराष्ट्र स्टेट बोर्ड सीबीएसी यह अखिल भारतीय काउंसिल ऑफ इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशंस आईसीएसई द्वारा संबद्ध होते हैं एवं शिक्षा का माध्यम अंग्रेजी या मराठी होता है।

देश के दो प्रमुख अनुसंधान संस्थान भाभा आणविक अनुसंधान केंद्र एवं टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च मुंबई में ही है।

महाराष्ट्र की राजधानी में पर्यटन स्थल

पर्यटन स्थलों में मुंबई में देश के कुछ प्रमुख पर्यटन स्थल है-

गेटवे ऑफ इंडिया मुंबई शहर के सबसे प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में है जो कि हिंदू और मुस्लिम धर्म की एकता का प्रतीक है। विजय मेहराब राजा जॉर्ज 5 और रानी मैरी के भारत आने के उपलक्ष पर इसे बनवाया गया था। यहां लोगों की काफी भीड़ रहती है।

मुंबई के नॉर्थ सेक्टर से करीब 18 किलोमीटर की दूरी पर मुंबई के प्रमुख पिकनिक स्पॉट में से एक जुहू बीच है जोकि अरब सागर की खूबसूरत समुद्र तट पर बसा है। जुहू बीच के आसपास सिद्धिविनायक मंदिर होली क्रॉस चर्च इस्कॉन मंदिर एवं महालक्ष्मी मंदिर जैसे धार्मिक स्थल भी हैं।

एक 3 किलोमीटर लंबी 6 मार्ग वाली सड़क दक्षिण मुंबई से उत्तर मुंबई के तट तक है मरीन ड्राइव कहलाती है। पर्यटक यहां जाना भी काफी पसंद करते हैं जहां से ढलते हुए सूरज का अद्भुत दृश्य देखा जा सकता है।

यहां के मुख्य धार्मिक स्थलों में हाजी अली की दरगाह काफी प्रतिष्ठित है, जो कि पीर हाजी अली शाह बुखारी को समर्पित है। इसकी यहां काफी धार्मिक मान्यता है।

हैंगिंग गार्डन जो कि मालाबार पहाड़ी के पश्चिमी छोर पर स्थित है  पर्यटकों को आकर्षित करता है। यह फिरोजशाह मेहता गार्डंस के नाम से भी प्रसिद्ध है।

पोवई झील भी यहां के विभिन्न प्रकार के जन जीव जंतु जंतुओं एवं नौका सवारी के लिए प्रसिद्ध है।

मुंबई के और दर्शन योग्य पर्यटन स्थलों में एलिफेंटा केव्स (जो की एलिफेंटा आईलैंड पर स्थित है), ग्लोबल विपस्सना पैगोडा, संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान,  , तुलसी झील,  विहार झील आदि जैसे स्थान का नाम आता है।

महाराष्ट्र की राजधानी में परिवहन एवं यातायात की सुविधा

परिवहन यानी यातायात में यहां वायु मार्ग, सड़क मार्ग रेल मार्ग एवं जल मार्ग से भी पहुंचा जा सकता है।

वायु मार्ग में मुंबई का छत्रपति शिवाजी अंतर्राष्ट्रीय विमानक्षेत्र पूरे दक्षिण एशिया का सबसे व्यस्त हवाई अड्डा है जहां से अंतर्राष्ट्रीय एवं घरेलू सभी प्रकार की फ्लाइट ली जा सकती है। इसके अलावा जुहू विमानक्षेत्र (जो भारत का प्रथम विमानक्षेत्र है ) भी है। मुंबई से ही देश के 38% अंतरराष्ट्रीय और 25% अंतर्देशीय यातायात पूरा होता है।

रेल मार्ग में महाराष्ट्र का मुंबई शहर भारत के अन्य भागों से भारतीय रेल द्वारा जुड़ा है। यहां ट ट्रेनें छत्रपति शिवाजी टर्मिनस, लोकमान्य तिलक टर्मिनस, दादर, मुंबई सेंट्रल, बांद्रा टर्मिनस,  एवं अंधेरी के मध्य चलती है। देश के सभी क्षेत्रों से यहां के लिए रेल सुविधा उपलब्ध है। यह शहर भारतीय रेल के  2 मंडलों मध्य रेलवे एवं पश्चिम रेलवे का मुख्यालय भी है।

सड़क मार्ग में यहां सड़कों का बड़ा नेटवर्क है। राष्ट्रीय राजमार्ग द्वारा यह देश के अन्य मुख्य शहरों से जुड़ा है। सड़क मार्ग की यातायात में बस, टैक्सी, ऑटो रिक्शा एवं फेरी जैसी सेवाएं आती है। नगर के हर एक भाग को बी ई एस टी द्वारा चालित बसें जोड़ती हैं। साथ ही टैक्सी जैसी सेवा का भी विकल्प होता है।

राज्य-राजधानी

S.Noराजधानी (Capital)
1आंध्र प्रदेश की राजधानी क्या है?
2अरुणाचल प्रदेश की राजधानी क्या है?
3असम की राजधानी क्या है?
4बिहार की राजधानी क्या है?
5छत्तीसगढ़ की राजधानी क्या है?
6गोवा की राजधानी क्या है?
7गुजरात की राजधानी क्या है?
8हरियाणा की राजधानी क्या है?
9हिमाचल प्रदेश की राजधानी क्या है?
10झारखंड की राजधानी क्या है?
11कर्नाटक की राजधानी क्या है?
12केरल की राजधानी क्या है?
13मध्य प्रदेश की राजधानी क्या है?
14महाराष्ट्र की राजधानी क्या है?
15मणिपुर की राजधानी क्या है?
16मेघालय की राजधानी क्या है?
17मिजोरम की राजधानी क्या है?
18नागालैंड की राजधानी क्या है?
19ओडिशा की राजधानी क्या है?
20पंजाब की राजधानी क्या है?
21राजस्थान की राजधानी क्या है?
22सिक्किम की राजधानी क्या है?
23तमिल नाडु की राजधानी क्या है?
24तेलंगाना की राजधानी क्या है?
25त्रिपुरा की राजधानी क्या है?
26उत्तर प्रदेश की राजधानी क्या है?
27उत्तराखंड की राजधानी क्या है?
28पश्चिम बंगाल की राजधानी क्या है?

घर बैठे पैसे कैसे कमाएं? [25,000 हर महीने]